Difference Between BCECE and DCECE- BCECE और DCECE में क्या अंतर है?

Difference Between BCECE and DCECE: आप बिहार के दो प्रवेश परीक्षा BCECE और DCECE के बारे कभी ना कभी सुने होंगे, या आप इस परीक्षा को देना भी चाहते है। लेकिन आपको इन दो परीक्षा के बारे में सही जानकारी नहीं है तो हम आपको इस प्रवेश परीक्षा के बारे में आखिर यह जो प्रवेश परीक्षाएं हैं, इन दोनों में क्या अंतर है, और इन दोनों में कौन- सा बेहतर है इसके बारे में आईए अंतर को समझते हैं।

Difference Between BCECE and DCECE

आज के इस आर्टिकल में हम आप सभी को Difference Between BCECE and DCECE के बारे में सभी जानकारी को बताएंगे। यदि आप भी इस Entrance Exam को करना चाहते है तो आपके लिए आज के यह लेख बहुत ही महत्वपूर्ण है। इसलिए आप इसे अंत तक पढ़ें।

Difference Between BCECE and DCECE: Overview

Name of Article Difference Between BCECE and DCECE
Article CategoryLatest Update
Full form of BCECEBihar Combined Entrance Competitive Examination
Full form of DCECEDiploma Certificate Entrance Competitive Examination
Full form of BCECE (LE)Bihar Combined Entrance Competitive Examination (Lateral Entry)
Official Websitebceceboard.bihar.gov.in

BCECE और DCECE में क्या अंतर है?

बीसीईसीई (BCECE) परीक्षा स्नातक डिग्री कार्यक्रमों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। इस परीक्षा के तहत आप बिहार के सरकारी कॉलेज में इंजीनियरिंग, चिकित्सा, कृषि और अन्य स्नातक पाठ्यक्रम शामिल हो सकते हैं। और वहीं

डीसीईसीई (DCECE) परीक्षा डिप्लोमा प्रमाणपत्र पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए आयोजित की जाती है। इस परीक्षा के जरिए आप आमतौर पर इंजीनियरिंग (पॉलीटेक्निक), पैरामेडिकल (दसवीं पास के लिए) और पैरामेडिकल (इंटरमीडिएट पास के लिए) पाठ्यक्रमों में भाग ले सकते है।

यह दोनों परीक्षाओं का आयोजन बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा बोर्ड (BCECE Board) द्वारा किया जाता है।

परीक्षा का पूरा नाम

  • BCECE: बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा (Bihar Combined Entrance Competitive Examination)
  • DCECE: डिप्लोमा प्रमाण पत्र प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा (Diploma Certificate Entrance Competitive Examination)

कौन से कोर्स के लिए कौन-सा परीक्षा?

  • BCECE: स्नातक डिग्री कोर्स (बैचलर डिग्री) के लिए, जैसे कि इंजीनियरिंग, मेडिकल, कृषि आदि।
  • DCECE: डिप्लोमा कोर्स के लिए, जैसे कि पॉलीटेक्निक इंजीनियरिंग, पैरामेडिकल (मैट्रिक स्तर), पैरामेडिकल (इंटरमीडिएट स्तर)।

Eligibility for BCECE and DCECE

  • BCECE: BCECE के लिए विज्ञान विषयों के साथ 12वीं पास होना आवश्यक है।
  • DCECE: DCECE के लिए 10वीं पास होना आवश्यक है, कुछ कोर्स के लिए विज्ञान विषयों से पास होना जरूरी हो सकता है।

BCECE और DCECE में से किसका चयन करें?

आपको इन दोनों में से कौन सा परीक्षा चुनना चाहिए, यह आपकी रुचि और शैक्षणिक योग्यता पर निर्भर करता है। यदि आप इंजीनियरिंग, मेडिकल या अन्य स्नातक डिग्री हासिल करना चाहते हैं, तो BCECE परीक्षा दे। वहीं, यदि आप डिप्लोमा कोर्स करना चाहते हैं, तो DCECE आपके लिए उपयुक्त है।

Difference Between BCECE And BCECE LE

BCECE परीक्षा इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम में स्नातक की डिग्री में सीट पाने के लिए आयोजित की जाती है, और वहीं BCECE (LE) परीक्षा डिप्लोमाधारियों (Lateral Entry) के लिए इंजीनियरिंग में स्नातक डिग्री के द्वितीय वर्ष में सीधे दाखिले के लिए आयोजित की जाती है।

परीक्षा का पूरा नाम

  • BCECE: बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा (Bihar Combined Entrance Competitive Examination)
  • BCECE (LE): बिहार संयुक्त प्रवेश प्रतियोगी परीक्षा (पार्श्विक प्रवेश) (Bihar Combined Entrance Competitive Examination (Lateral Entry))

कौन से कोर्स के लिए?

  • BCECE: यह परीक्षा इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम में स्नातक कोर्स में दाखिले के लिए आयोजित की जाती है।
  • BCECE (LE): यह परीक्षा डिप्लोमाधारियों (Diploma holders) के लिए इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम में स्नातक डिग्री के द्वितीय वर्ष में सीधे दाखिले के लिए आयोजित की जाती है। इसे पार्श्विक प्रवेश (Lateral Entry) भी कहते हैं।

शैक्षिक योग्यता

  • BCECE: 12वीं पास (विज्ञान विषयों के साथ) होना आवश्यक है।
  • BCECE (LE): किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से सम्बद्ध किसी भी इंजीनियरिंग या टेक्नोलॉजी से संबंधित डिप्लोमा उत्तीर्ण होना आवश्यक है।

बीसीईसीई और बीसीईसीई (एलई) के लिए पात्रता

  • BCECE: इस प्रवेश परीक्षा में शामिल होने के लिए अभ्यार्थी 12वीं कक्षा के बाद सीधे आवेदन कर सकते हैं।
  • BCECE (LE): इसमे केवल वही डिप्लोमाधारी आवेदन आवेदन कर सकते है, जिन्होंने किसी मान्यता प्राप्त संस्थान से सम्बद्ध इंजीनियरिंग या टेक्नोलॉजी से संबंधित डिप्लोमा कोर्स पूरा कर लिया है।

BCECE और BCECE (LE) में किसका चयन करें?

यह आपकी शैक्षिक पृष्ठभूमि पर निर्भर करता है, की आप इन BCECE और BCECE (LE) में से किसका चयन करते है। यदि आप 12वीं पास हैं और इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम में स्नातक की डिग्री कोर्स में दाखिला लेना चाहते हैं, तो BCECE दें। वहीं, यदि आप डिप्लोमाधारी हैं (इंजीनियरिंग या टेक्नोलॉजी से) और इंजीनियरिंग पाठ्यक्रम में स्नातक की डिग्री कोर्स में सीधे द्वितीय वर्ष में दाखिला लेना चाहते हैं, तो BCECE (LE) आपके लिए उपयुक्त है।

निष्कर्ष 

आज के इस आर्टिकल में हम आप सभी को Difference Between BCECE and DCECE के बारे में सभी जानकारी को सही सही और विस्तार से बताए है। यदि आपको आज के यह लेख पसंद आया हो तो आप इसे अपने दोस्तों के साथ में शेयर जरूर करें। और इस लेख से संबधित यदि कोई भी प्रश्न हो तो आप हमसे पूछ सकते है।

Related Posts